11 लाख pan card हुवे रद्द ऐसे चेक करें अपना पैन कार्ड

1

पुरे देश में लाखों की संख्या में pan card को रद्द कर दिया गया है.रद्द किये गए पैन कार्ड ऐसे लोगों के हैं जिन्होंने एक ही नाम के दो pan card बनवा रखे थे या जिनके aadhaarcard और पैन कार्ड के डिटेल में बहुत ज़यादा अंतर था. जितने पैन कार्ड रद्द किये गए हैं इनका इस्तेमाल गलत तरीके से फर्जी कम्पनियों के incomtex भरने में किया जा रहा था.

एक से ज़यादा pan card रखना अपराध है

आपको बता दें कि Income tax act 1961 की धारा 272बी के तहत कोई भी नागरिक एक से अधिक पैन कार्ड नहीं रख सकता है और अगर किसी के पास एक से अधिक पैन कार्ड मिलेगा तो उस पर सरकार 10 हजार रुपए तक का जुर्माना लग सकती है.अगर किसी के पास एक से ज़यादा पैन कार्ड हों तो उसको तुरंत Income Tax Department को वापस कर दे.पैन कार्ड को वापस करने से पहले इस बात की जाँच ज़रूर कर लें की कौन सा Pan card activate है.

मोबाइल नंबर को aadhaar card से जोड़ने का तरीका
pan card

ऐसे चेक करें अपना pan card

आप का PAN card canceled हुवा है की नहीं जाचने के लिए आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल में  http://incometaxindiaefiling.gov.in/ वेबसाइट को ओपन करें और फिर बाएं तरफ Services मेनू में KnowYour Pan लिखा होगा उसको क्लिक करें. KnowYourPan को जैसे ही क्लिक करेंगे एक new window open होगा जिसमे आप को अपने pan card पर छपीं जानकारी को सही सही भरना होगा. इस फॉर्म में आप वही जानकारी भरें जो आप के पैन कार्ड पर है.
Surname
Middle Name
First Name
Status
Gender
Date of Birth
Mobile Number

pan card

इसके बाद submit button को क्लिक कर दें, अगर आप का पैन कार्ड रद्द हो गया होगा तो उसकी सुचना आप को तुरंत मिल जाएगी और अगर रद्द नहीं हुवा होगा तो उसकी जानकारी भी आप को तुरंत मिल जाएगी.अगर आप के पास एक से ज़यादा पैन कार्ड हैं तो उनको बारी बारी से चेक कर लें और जो रद्द हो गए हों उनका इस्तेमाल कभी मत करें और अगर सारे एक्टिवेट हों तो एक को रख के बाकी इनकम टेक्स दफ्तर को लौटा दें.

mAadhar mobile app – अब आधार कार्ड साथ रखने की ज़रूरत नही

1 COMMENT

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल सोमवार (21-08-2017) को "बच्चे होते स्वयं खिलौने" (चर्चा अंक 2703) पर भी होगी।

    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।

    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर…!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here