Blogger में Custom Robots Header Tags सेटिंग कैसे करें - Hindi Me

Blogger में Custom Robots Header Tags सेटिंग कैसे करें

Share:
Custom robots header tags




Google अपने free Blogging platform को और अधिक बेहतर और पावरफुल बनाने के लिए regular कुछ न कुछ बदलाव करता रहता है.गूगल ने blogger में एक  new features add किया है जिसका नाम है "Custom Robots Header tags".अभी बहुत कम bloggers को इस new SEO feature की जानकारी है.इस new features को आप अपने blogger dashboard के Settings » Search preferences में देख सकते हैं.

Custom Robots header tags?

Custom robots header tags से आप अपने ब्लॉग को google search में दिखाने और नहीं दिखाने की setting कर सकते है. आप का ब्लॉग search results में किस तरह शो करना है ये बहुत हद तक Custom robots पर निर्भर करता है.


Custom robots header tags SEO ko Improve karta hai

Custom robots की setting ब्लॉग पर करना बहुत important है.Custom robots Google search visibility को improve करता है. Google ने इस new feature को Blogger SEO के लिए लॉन्च किया है ताकि इसके द्वारा blogger अपने blog seo को improve कर सकें.


Custom robots header tags Settings Kaise kare?

दोस्तों Custom robots की setting करने से पहले इस बात को आप अच्छी तरह से समझ लें की अगर आप ने इसको सही तरह से नहीं किया तो आप का ब्लॉग सर्च रिजल्ट से बाहर भी हो सकता है.Custom robots को इनेबल करने से पहले आप इस पोस्ट को अच्छी तरह से पढ़ लें और समझ लें उसके बाद ही इसको try करें.But Don’t worry वैसे Custom robots की सेटिंग करना बहुत ही आसान है.

Custom robots की पूरी जानकारी

1. all
all tag को enable करने से Robots आपके ब्लॉग को free हो कर index करेगा.आप के किसी भी पेज को कभी भी इंडेक्स करने के लिए रोबोट्स फ्री होगा.

2. noindex
अगर आप noindex को इनेबल करेंगें तो robots आप के blog page को index नहीं करेगा. यानी के आप noindex tag के इस्तेमाल से robots को blog page index करने से रोक सकते हैं. आप अपने ब्लॉग में जिस पेज को search results में दिखाना नहीं चाहते हैं वहां आप noindex tag का इस्तेमाल कर सकते हैं.


3. none
अगर आप none tag का इस्तेमाल करते हैं तो robots आप के ब्लॉग पेज को ना ही इंडेक्स करेगा और ना ही follow करेगा. इस टैग का इस्तेमाल outbound links या affiliate links में किया जा सकता है.आप अपने पोस्ट में किसी लिंक का इस्तेमाल करते हैं और आप उस लिंक को backlink देना नहीं चाहते हैं तो आप इस टैग का इस्तेमाल कर सकते हैं.

4. noarchive
हर वेबसाइट या ब्लॉग का cached data google server पर हमेशा available रहता है. कभी किसी कारण से ब्लॉग या वेबसाइट डाउन हो जाता है या किसी और वजह से unavailable का मैसेज शो होता है तो उस वक़्त आप के ब्लॉग विजिटर cached file को ओपन करके आप के ब्लॉग या वेबसाइट को access कर सकते हैं.

5. nosnippet
ये एक बहुत important टैग है. nosnippet tag search result में आप के ब्लॉग पोस्ट या ब्लॉग के title के निचे description show होना चाहिए की नहीं होना चाहिए इसका फैसला करता है.description show होना किसी भी ब्लॉग के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है.description के कारण विजिटर आप के ब्लॉग को ज़यादा क्लिक करते हैं.अगर आप अपने ब्लॉग या पोस्ट के description को remove करना चाहते हैं जो की ब्लॉग के लिए ठीक नहीं है,तो इस टैग का इस्तेमाल कर सकते हैं.

6. noodp
Google search results में title and snippet(description) को दिखाने के लिए इस टैग Open directory project (ODP) DMOZ का इस्तेमाल किया जाता है.अगर आप ODP से अपने ब्लॉग के search results remove करना चाहते हैं तो noodp tag use कर सकते हैं.मेरे हिसाब से अपने ब्लॉग पर noodp tag use करना चाहिए ताकि ब्लॉग के पोस्ट सही तरीके से search results में नज़र आये.

7. notranslate
अगर ब्लॉग को translate होने से रोकना हो तो इस notranslate tag का इस्तेमाल करना चाहिए. इस टैग के इस्तेमाल से search results में ब्लॉग का translate option हट जाता है.

8. noimageindex
अगर आप चाहते हैं की आप के ब्लॉग के images search results में नज़र नहीं आयें तो आप noindeximage tag का इस्तेमाल कर सकते हैं.

9. unavailable_after
आप के ब्लॉग पर कोई ऐसा पोस्ट है जिसे आप सिर्फ कुछ दिनों तक search results में दिखाना चाहते हैं और उसके बाद search results से remove कर देना चाहते हैं तो आप इस टैग का इस्तेमाल कर सकते हैं.

दोस्तों आप को custom robots की पूरी जानकारी मिल गई जिसे आप अपनी सुविधा अनुसार अपने ब्लॉग और ब्लॉग पोस्ट में सेट कर सकते हैं.









ब्लॉग में custom robots header tags की सेटिंग कैसे करते हैं

सबसे पहले अपने ब्लॉगर डैशबोर्ड को ओपन करें और फिर Settings » Search Preferences को क्लिक करें.

अब आप को यहाँ Custom robots header tags का option नज़र आएगा उसको edit पर क्लिक कर के Enable कर दें.

Enable करने के बाद निचे image में दिखाए गए setting के अनुसार आप अपने ब्लॉग के Custom robots header tags को सेट कर लें और फिर अंत में save changes बटन को क्लिक कर के पूरी setting को सेव कर लें.





custom robots header tags

अभी जो आप ने custom robots header tags को सेट किया है ये setting आप के पुरे ब्लॉग के लिए है.यानी आप के ब्लॉग पर जितने भी पेज और पोस्ट हैं उन सब पर ये setting लागु होगी.लेकिन अगर आप अलग अलग पेज या पोस्ट के लिए अलग अलग custom robots header tags सेट करना चाहते हैं तो उसका भी आप्शन blogger पर उपलब्ध है.


Particular page पर Custom robots tags सेट करने का तरीका

जब आप कोई new post लिखते हैं या अपने ब्लॉग के लिए new page बनाते हैं तो ध्यान दीजियेगा आप के दाहिने तरफ आप को एक new option "Custom robots Tags" का नज़र आएगा.ये सुविधा blogger ने अभी अभी शुरू किया है इसलिए लोगों को इसके बारे में बहुत कम जानकारी है.


यहाँ आप Custom robots Tags को क्लिक कर के ओपन करें और फिर सबसे ऊपर नज़र आ रहे default option को uncheck कर दें.

अब आप अपने पोस्ट और पेज में अपनी सुविधा और ज़रूरत के अनुसार tag को select कर सकते हैं और अपने page या post में apply कर सकते हैं.


अगर ये पोस्ट आपको अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें. आप इसे Facebook या Twitter जैसे सोशल नेट्वर्किंग साइट्स पर शेयर करके इसे और लोगों तक पहुचाने में हमारी मदद करें. धन्यवाद

2 comments:

  1. get premium templates free.no error,no redirection,100% genuine to remove credit,also remove encrypted script,optimized js. visit here and download credit removed templates

    ReplyDelete
  2. A IEEE project is an interrelated arrangement of exercises, having a positive beginning and end point and bringing about an interesting result in Engineering Colleges for a particular asset assignment working under a triple limitation - time, cost and execution. Final Year Project Domains for CSE In Engineering Colleges, final year IEEE Project Management requires the utilization of abilities and information to arrange, plan, plan, direct, control, screen, and assess a final year project for cse. The utilization of Project Management to accomplish authoritative objectives has expanded quickly and many engineering colleges have reacted with final year IEEE projects Project Centers in Chennai for CSE to help students in learning these remarkable abilities.



    Spring Framework has already made serious inroads as an integrated technology stack for building user-facing applications. Spring Framework Corporate TRaining the authors explore the idea of using Java in Big Data platforms.
    Specifically, Spring Framework provides various tasks are geared around preparing data for further analysis and visualization. Spring Training in Chennai

    ReplyDelete

नई नई तकनिकी जानकारी,कंप्यूटर की जानकारी और मोबाइल की जानकारी के लिए HINDIME BLOG को बुकमार्क, सब्सक्राइब और निचे कमेन्ट करना मत भूलियेगा.