railway jankari in hindi

नमस्कार दोस्तों,मेरे ब्लॉग hindime.in पर आप का एक बार फिर स्वागत है. दोस्तों आज मै आप को indian railway station के बारे में एक बहुत ही रोचक जानकारी बताऊंगा.मुझे लगता है की बहुत कम लोग इसके बारे में जानते होंगें.

दोस्तों आप से बहुत सारे लोग indian rail में सफ़र करते होंगें.indian railway में सफ़र करने के लिए reservation करवाना पड़ता है या फिर rail ticket लेना पड़ता है.reservation या rail ticket हमेशा दो railway station के बिच के लिए लिया जाता है.

दोस्तों आप जब कोई reservation करवाते हैं या railway ticket खरीदते हैं तो स्टेशन का नाम बताते हैं जैसे दिल्ली से मुम्बई.लेकिन क्या आप ने कभी सोचा है की railway station के नाम के अंत में अलग अलग उपनाम क्यों लिखा जाता है.कुछ रेलवे स्टेशन के नाम बहुत सिंपल होते हैं लेकिन कुछ के नाम जंक्शन और टर्मिनस क्यों होते हैं?

तो दोस्तों आइये देखते हैं की कुछ स्टेशन के नाम सिंपल होते हैं जबकि कुछ को जंक्शन और टर्मिनस क्यों कहा जाता है?

सामान्य रेल्वे स्टेशन

ये ऐसे रेल्वे स्टेशन होते हैं जहां पर पैसेंजर गाड़िया रूकती हैं.ऐसे रेलवे स्टेशन पर आम तौर पर सुपर फ़ास्ट गाड़ियां नहीं रूकती हैं. इन स्टेशन पर दो से अधिक प्लेटफार्म नहीं होते हैं. ऐसे स्टेशनों का इस्तेमाल एक ही रूट पर आने वाली दो गाड़ियों की क्रॉसिंग के लिए किया जाता है.

rail jankari

Junction – जंक्शन

दोस्तों आप ने अपने rail yatra के दौरान देखा होगा की कई बड़े रेल्वे स्टेशन या फिर आप के शहर के रेलवे स्टेशन के नाम में जंक्शन लगा होगा.दोस्तों किसी भी रेलवे स्टेशन को जंक्शन कहलाने के लिए जरूरी है कि वहां दो या दो से ज़्यादा रूट हो.

जंक्शन उन रेलवे स्टेशन को कहा जाता है जहाँ से दो अलग अलग rail root जाते हों.यानी के ऐसे स्टेशन पर दो या दो से ज़यादा अलग अलग दिशा के रूट होने चाहिए.ऐसे स्टेशन को जंक्शन कहते हैं.

railjuction

क्या आप को पता है?

भारत में सबसे बड़ा जंक्शन मथुरा है,जहाँ से सात अलग अलग रूट निकलते हैं. इसके अलावा भटिंडा, रेवाड़ी, जैसे जंक्शन छः रूट वाले हैं.जबकि बरेली, ग्वालियर, कटनी, लखनऊ जैसे स्टेशन पांच रूट वाले हैं.इसके आलावा और बहुत सारे स्टेशन हैं जो चार रूट और तीन रूट वाले हैं.

 Terminus – टर्मिनस

दोस्तों हम में से बहुत कम लोगों को इस बात की जानकारी है की किसी railway station ko  terminus kyo kaha jaata hai? दरअसल टर्मिनस उन रेल्वे स्टेशन को कहा जाता है जिन स्टेशन के आगे कोई रेल्वे रूट नहीं होता.यानी के उस स्टेशन के आगे indian railway का कोई रूट नहीं होता है.यानी के वहां से आगे rail line नहीं होती है. भारत में कुछ प्रमुख टर्मिनस Bandra Terminus, Lokmanya Tilak Terminus, Cochin Harbour Terminus railway station, Chhatrapati Shivaji Terminus railway station आदि हैं.

railkijankari

अगर ये पोस्ट आपको अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें. आप इसे Facebook या Twitter जैसे सोशल नेट्वर्किंग साइट्स पर शेयर करके इसे और लोगों तक पहुचाने में हमारी मदद करें. धन्यवाद

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here