रेलगाड़ी नंबर से हम उस रेलगाड़ी के बारे में क्या क्या जान सकते है - Hindi Me

रेलगाड़ी नंबर से हम उस रेलगाड़ी के बारे में क्या क्या जान सकते है

Share:




क्या आप के मन में कभी ये सवाल आया है की "रेलगाड़ी नंबर से हम उस रेलगाड़ी के बारे में क्या- क्या जान सकते है?"आज मै आप को इसी सवाल का जवाब दूंगा.भारतीय रेलवे में जितनी भी ट्रेनें चलती हैं उन सब को एक यूनिक नंबर दिया जाता है जो की 5 अंकों का होता है.एक ट्रेन का नंबर कभी भी दूसरी ट्रेन के नंबर के साथ मैच नहीं करता है यानी एक नंबर के दो ट्रेन नहीं होते हैं.5 अंको के ट्रेन नंबर में हर अंक का एक मतलब होता है लेकिन को पहला अंक होता है वो सबसे महत्वपूर्ण होता है और इसकी जानकारी एक आम इंसान को भी होनी चाहिए.बाकी के 4 अंक एक आम इंसान को न भी पता हो तो कोई बात नहीं,लेकिन शुरुवाती अंक का मतलब सब को पता होना चाहिए.
रेलगाड़ी

तो चलिए भारतीय रेलवे में ट्रेनों के नंबर के पहले अंक का क्या मतलब होता है इसकी जानकारी लेते हैं.अगर आप हमेशा टरेल यात्रा करते हैं तो आज की ये जानकारी मुझे लगता है की आप के बहुत काम की है.किसी ट्रेन नंबर के पहले अंक को देखकर आप ट्रेन के बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं.




पहला अंक “0”

जिस ट्रेन नंबर की शुरुवात (0) अंक से होता है वो रूटीन ट्रेन यानी कोई नार्मल ट्रेन नहीं है बल्कि वो एक स्पेशल ट्रेन होती है जिसे रेलवे पूरे साल नहीं बल्कि कुछ एक महीनों के लिए ही चलाता है.उदाहरण के लिए विंटर स्पेशल, पूजा स्पेशल या समर स्पेशल.इन ट्रेनों को अलग अलग मौसम और पर्व के अनुसार यात्रियों की भीड़ को देखते हुवे चलाया जाता है.

पहला अंक “1”

जिस ट्रेन का नंबर “1” से शुरू होता है वो मध्य और कम लम्बी दुरी की ट्रेनें होती हैं.भारतीय रेलवे में अधिकतर AC, सुपरफास्‍ट ट्रेनों का नंबर “1” से शुरू होता है.

पहला अंक हो “2”

जिन ट्रेनों का नंबर “2” से शुरू होता है वो ट्रेनें और अधिक लम्बी दुरी को तय करती हैं.ऐसे एक्‍सप्रेस ट्रेन जो 800 किलोमीटर से अधिक की दुरी तय करी हैं उनका नंबर “2” से शुरू होता है.

पहला अंक हो “3″

3 अंक से शुरू होने वाली ट्रेनें शायद आप ने कभी नहीं देखि होगी या आप ने इन में कभी सफ़र नहीं किया होगा.”3″ नम्बर को कोलकाता सबअर्बन ट्रेन सिस्टम को दिया गया है इसलिए इस नंबर से शुरू होने वाली ट्रेनें सिर्फ कोलकाता और उसके आस पास के इलाकों में चलती हैं.अगर आप कोलकाता में रहते हैं या कोलकाता जाते हैं तभी आप इन ट्रेनों की सवारी कर सकते हैं.

पहला अंक हो “4″

अगर किसी ट्रेन का पहला नंबर 4 है तो वो ट्रेन सिर्फ दिल्ली,मुंबई और हैदराबाद जैसे महानगरों में ही चलेगी.मेट्रो सिटी के ट्रेनों का नंबर 4 से शुरू होता है.अगर आप कभी दिल्ली या हैदराबाद जायेंगें तो आप को वहां की मेट्रो ट्रेनों पर उनका नम्बर देखने को मिलेगा जो 4 अंक से शुरू होते हैं.

पहला अंक हो Five “5″

अगर किसी ट्रेन नंबर की शुरुवात “5” अंक से होता है तो समझ लीजिये की वो एक कम दुरी की पैसेंजर ट्रेन है जिसमे जनरल डिब्बे लगे होते हैं.

पहला अंक हो “6″

अगर किसी ट्रेन का नंबर 6 अंक से शुरू हो रहा है तो वह मेमो ट्रेन है जो कम दूरी वाले किन्हीं दो बड़े शहरों के बीच चलती हैं और ग्रामीण इलाकों से शहर आने वालों को भी सेवाएं देती है.

पहला अंक हो “7″

DMU या Railcar जिसमे आगे पीछे और बीच में डीजल या इलेक्ट्रिक वाले कई इंजन लगे होते हैं इन ट्रेनों के नंबर “7” से शुरू होते हैं.

पहला अंक हो “8″

अगर किसी ट्रेन नंबर के शुरुवात में 8 अंक लगा है तो वो ट्रेन पूरी तरह से रिजर्वड सुपर फास्‍ट ट्रेन होगी है, जिसका स्टोपेज बहुत ही कम स्‍टेशनों पर होगा.ऐसी ट्रेने अकसर फ़ौज को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए होती हैं.

पहला अंक हो “9″

9 नंबर मुंबई में चलने वाली सबर्बन ट्रेनों को दिया गया है.इनमें मुंबई और आसपास के लोग सफर करते हैं.




तो दोस्तों आप को रेलगाड़ी नंबर से हम उस रेलगाड़ी के बारे में क्या- क्या जान सकते है ? की ये जानकारी कैसी लगी कृपया कमेन्ट कर के ज़रूर बताएं.अगर आप के मन में रेलगाड़ी नंबर से हम उस रेलगाड़ी के बारे में क्या- क्या जान सकते है ? को लेकर कोई सवाल है तो आप कमेन्ट कर के पूछ सकते हैं.नई नई तकनिकी जानकारी,कंप्यूटर की जानकारी और मोबाइल की तकनिकी जानकारी के लिए HINDIME BLOG को बुकमार्क और सब्सक्राइब करना मत भूलियेगा.


No comments

नई नई तकनिकी जानकारी,कंप्यूटर की जानकारी और मोबाइल की जानकारी के लिए HINDIME BLOG को बुकमार्क, सब्सक्राइब और निचे कमेन्ट करना मत भूलियेगा.