जानलेवा कोरोनावायरस(Coronavirus) से कैसे रहें सुरक्षित - Hindi Me

जानलेवा कोरोनावायरस(Coronavirus) से कैसे रहें सुरक्षित

Share:



दिल्ली समेत देश के सात हवाई अड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है. ताकि अगर चीन या हांगकांग से लौटे किसी शख़्स में संक्रमण के असर दिखते हैं तो उसकी तुरंत जांच कराई जा सके.
इस कोरोनावायरस(Coronavirus) को लेकर सबसे बड़ा ख़तरा ये है कि यह इंसानों से इंसानों में फैलता है.चीन में अब तक इसकी वजह से 17 लोगों की मौत हो चुकी है और 500 से ज़्यादा लोगों में इसका संक्रमण पाया गया है.
माना जा रहा है कि इस वायरस के संक्रमण की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई है.इस वायरस के लिए अभी तक कोई वैक्सीन तैयार नहीं की गई है. सावधानी के तौर पर अभी तक जो किया जा रहा है वो बस यही है कि संक्रमित और बीमार लोगों से दूरी बनाकर रखी जाए.
कोरोनावायरस(Coronavirus)

भारत को चिंता करने की कितनी ज़रूरत?

भारत में नेशनल सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ कंट्रोल के डायरेक्टर डॉ. सुजीत कुमार सिंह के मुताबिक़, यह वायरस मर्स और सार्स वायरस की तरह जानवरों से ही आया है. दस से बीस दिनों के भीतर ही यह वायरस 40 से 550 लोगों को संक्रमित कर चुका है. जो वायरस अब तक चीन तक ही सीमित था वो अब 5-6 देशों तक भी पहुंच चुका है.
वो कहते हैं "यह वायरस अमरीका तक पहुंच चुका है तो हमारे देश के लोग भी चीन की यात्रा करते हैं. क़रीब 1200 मेडिकल स्टूडेंट चीन में पढ़ाई कर रहे हैं, जिसमें से ज़्यादातर वुहान प्रांत में ही हैं. ऐसे में अगर वो वहां से लौटते हैं तो इस वायरस के भारत में आ जाने की आशंका बहुत बढ़ जाती है."
हालांकि वो ये ज़रूर कहते हैं कि भारत में यह वायरस कैसे प्रतिक्रिया देगा, इस बारे में स्पष्ट तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता क्योंकि ये नया वायरस है और इसके बारे में बहुत कुछ पता नहीं है.


भारत को किस तरह की तैयारी रखनी चाहिए?

नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से पहले ही चीन और हांगकांग से यात्रा कर रहे यात्रियों को लेकर निर्देश जारी किये जा चुके हैं. इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी देर शाम एक एडवाइज़री जारी की.
डॉक्टर सिंह के मुताबिक़ सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किया जा रहा है. एयरपोर्ट पर लगे थर्मल स्क्रीनिंग से हर पैसेंजर की जांच की जा रही है. जिस भी यात्री में बढ़ा हुआ तापमान पाया जाएगा, उसकी जांच की जाएगी और फिर डब्ल्यूएचओ के दिशा-निर्देशों के अनुसार संक्रमण की जांच के लिए परीक्षण के लिए भेजा जाएगा.
वो कहते हैं "एयरपोर्ट, अस्पताल और सामुदायिक केंद्रों... तीनों जगहों पर हर तरह की सतर्कता बरती जा रही है. अगर कोई शख़्स एयरपोर्ट जांच के दौरान अगर पकड़ में नहीं भी आता है तो कम्युनिटी में उसकी जांच की जाएगी. उसके ट्रेवल डाटा के आधार पर. ऐसे में अगर उसमें कोई भी लक्षण नज़र आता है तो वो हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकता है."
Coronavirus

क्या हैं इस वायरस के संक्रमण के लक्षण ?

  • सिरदर्द
  • नाक बहना
  • खांसी
  • गले में ख़राश
  • बुखार
  • अस्वस्थता का अहसास होना
  • छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना
  • थकान महसूस करना
  • निमोनिया, फेफड़ों में सूजन

डॉक्टर किन सावधानियों को अपनाने के लिए कहते हैं ?

डॉ सिंह कहते हैं कि जैसा कि हर बीमारी के लिए कहा जाता है कि इलाज से बेहतर है सावधानी. ऐसे में हर किसी को सावधान रहने की सलाह दी जा रही है.
वो कहते हैं "अगर आपका कोई परिचित चीन जाना चाह रहा है तो उसे सलाह दी जाती है कि अगर बहुत ज़रूरी ना हो तो वे चीन ना जाएं. और अगर कोई वहां से लौटकर आ रहा है तो वह अपनी जांच सबसे पहले करवाएं. "
कितनी गंभीर है ये समस्या?
कोरोनावायरस के कारण अमूमन संक्रमित लोगों में सर्दी-जुक़ाम के लक्षण नज़र आते हैं लेकिन असर गंभीर हों तो मौत भी हो सकती है.
यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिनबरा के प्रोफ़ेसर मार्क वूलहाउस का कहना है, "जब हमने ये नया कोरोनावायरस देखा तो हमने जानने की कोशिश की कि इसका असर इतना ख़तरनाक क्यों है. यह आम सर्दी जैसे लक्षण दिखाने वाला नहीं है, जो कि चिंता की बात है."
कोरोनावायरस

कितनी तेज़ी से फैल रहा है ये Coronavirus वायरस?

शुरुआत में माना जा रहा था कि इस वायरस का असर सीमित ही होगा लेकिन दिसंबर के बाद से कई नए मामले सामने आ चुके हैं.
हालांकि इस संक्रमण की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई लेकिन अब इसका संक्रमण चीन के बाकी शहरों के साथ-साथ देश के बाहर भी नज़र आ रहा है.
थाईलैंड, जापान, अमरीका और दक्षिण कोरिया में भी संक्रमण के कुछ मामले सामने आए हैं. वुहान से होकर आने वाले लोगों में इसके संक्रमण की आशंका अधिक है.
विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा ज़रूरी नहीं है कि सभी संक्रमित लोगों की पहचान हुई ही हो. ऐसा हो सकता है कि बहुत से ऐसे मामले हो सकते हैं जो छूट गए हों.
ऐसी आशंका जताई जा रही है कि यह वायरस नए साल चीन घूमने आए बहुत से लोगों के साथ अलग-अलग देशों में लाखों लोगों में पहुंच चुका हो.

2 comments:

  1. Nice information
    https://hindisystem.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. Yeah, your are right and know very well... Nice information.. These can help us... As a writer you are good... Thank you so much..
    The side is also nice... You can visit there.....
    https://sutlan8ap.blogspot.com/?m=1

    ReplyDelete

नई नई तकनिकी जानकारी,कंप्यूटर की जानकारी और मोबाइल की जानकारी के लिए HINDIME BLOG को बुकमार्क, सब्सक्राइब और निचे कमेन्ट करना मत भूलियेगा.